Mon. Dec 9th, 2019

आज से शुरू हुआ सीएम नीतीश कुमार की क्लाइमेट चेंज पदयात्रा

नीतीश कुमार की क्लाइमेट चेंज पदयात्रा : आज से बिहार प्रदेश के मुखिया नीतीश कुमार ने जलवायु परिवर्तन के गंभीर मुद्दे पर अपनी पदयात्रा आरम्भ कर दी है। बिहार सरकार के अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जलवायु परिवर्तन के खिलाफ अपनी राज्यव्यापी ‘जल-जीवन-हरियाली यात्रा’ शुरू करेंगे। जल संरक्षण और वनीकरण के महत्व पर जोर देते हुए मुख्यमंत्री राज्य के उत्तर-पश्चिमी जिलों में दौरे के चार दिवसीय पहले चरण का कार्य करेंगे।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “नीतीश कुमार पश्चिम चंपारण जिले के बगहा से  यात्रा ‘की शुरुआत करेंगे और पूर्वी चंपारण और सिवान जिलों की यात्रा के बाद, वह गोपालगंज जिले में दौरे के पहले चरण का समापन करेंगे।”

बक्सर में हैदराबाद रेपकांड जैसी घटना से इंसानियत हुई शर्मसार

नीतीश कुमार की क्लाइमेट चेंज पदयात्रा : चुनाव से पहले ज़मीनी राजीनतिक एक्सपेरिमेंट

मुख्यमंत्री ने जलवायु परिवर्तन पर सार्वजनिक बैठकों में अपनी “जल-जीवन-हरियाली अभियान’’ के तहत परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे, तालाबों और अपशिष्ट प्रबंधन इकाइयों का निरीक्षण करेंगे और संबंधित अधिकारियों के साथ बातचीत करेंगे।

अधिकारी ने कहा कि पूरी यात्रा के जनवरी तक समाप्त होने की उम्मीद है, जिसके बाद एक मानव श्रृंखला बनाई जाएगी।मानव श्रृंखला राज्य सरकार की पहल जैसे शराब की बिक्री और सेवन पर प्रतिबंध और दहेज और बाल विवाह के खिलाफ अभियान का प्रदर्शन करेगी। बिहार के मुख्यमंत्री ने पहल के लिए अमेरिकी बिजनेस मैग्नेट बिल गेट्स से प्रशंसा हासिल की है।

मुंगेर के प्रणव कुमार ने बिहार जुडिशल सर्विस एग्जाम में किया कमाल

यह दौरा राज्य विधानसभा चुनावों के एक साल से भी कम समय होने पर हो रहा है जिसमें मिलने वाली सफलता नीतीश कुमार को लगातार चौथी बार सत्ता में वापस लाने और अंततः उन्हें बिहार के सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री बने रहने में सक्षम बनाएगी। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष को बिहार के सुदूर कोनों में हुई प्रगति की समीक्षा के लिए राज्यव्यापी दौरे करने के लिए जाना जाता है।

जलवायु परिवर्तन के खिलाफ कुछ महीने पहले शुरू की गई मुख्यमंत्री की ड्रीम परियोजना ‘जल-जीवन-हरियाली यात्रा’ नाम से शुरू की गई है। इस साल जुलाई में एक सर्वदलीय बैठक के बाद इस अभियान की अवधारणा की गई थी जिसमें राज्य विधानसभा के दोनों सदनों के सदस्यों ने सर्वसम्मति से जलवायु परिवर्तन से निपटने के प्रयास करने पर सहमति व्यक्त की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *