Fri. Nov 22nd, 2019

अपने मंत्री पर इस कारण से बरसे सीएम नीतीश कुमार

अपने मंत्री पर बरसे सीएम

अपने मंत्री पर बरसे सीएम : सीएम नीतीश कुमार जल्दी गुस्से में दीखते नहीं है लेकिन एक बार उनको गुस्सा आ गया तो उस शख्स की खैर नहीं. इस बार कुछ ऐसा हो गया कि सुशासन बापू अपने ही मंत्रिमंडल के साथ मंत्री पर गुस्सा गए. बिहार सरकार में मंत्री महेश्वर हजारी ने बगावती रंग दिखा दिए है जिससे नीतीश कुमार को परेशानी उठानी पड़ रही है.

असल में मामला समस्तीपुर जिले के सरायरंजन में श्री राम जानकी मेडिकल कॉलेज खोले जाने से जुड़ा है. इसकी आधारशीला सरायगंज में रख दी गई जिससे समस्तीपुर की कथित अनदेखी किये जाने को लेकर महेश्वर हजारी अपने ही मुख्यमंत्री के खिलाफ बोल पड़ें है.

बिहार में 7000 असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति, पढ़िए पूरी खबर

अपने मंत्री पर बरसे सीएम: मंत्री ने दिया था विद्यानसभा अध्यक्ष पर बयान

Image result for maheshwari hazari jdu"

मीडिया के सामने आकर उन्होंने सीएम नीतीश कुमार पर गुस्सा दिखते हुए कहा कि किसी बड़े नेता के दबाव में और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के नियम के विरूद्ध जाकर समस्तीपुर मुख्यालय से दूर अस्पताल का निर्माण कराया जा रहा है.

इसकी भनक जैसे ही सीएम नीतीश कुमार को लगी तो वह तुरंत क्रोधित हो उठे और कहा कि “उनसे तो मैं ठीक से बात करूँगा”, बता दें कि सीएम नीतीश कुमार ने समस्तीपुर में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मैं अपने मंत्री से पूछूंगा कि उन्होंने क्या बयान दिया है.

इस बुधवार को सीएम नीतीश कुमार ने समस्तीपुर में नारघोघी मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास करने पहुंचे थे जहाँ पर उन्होंने तल्ख़ लहज़े में कहा था कि अगर यह मेडिकल कॉलेज समस्तीपुर मैं नहीं बन रहा तो क्या दरभंगा या बेगूसराय में बन रहा है ?

सीएम नीतीश कुमार को मंत्री महेश्वर हजारी के विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी पर अप्रत्यक्ष हमला करने वाले बयान की सूचना मिली जिसको लेकर वह काफी क्रोधित भी हुए और कहा कि वह मंत्री से स्वयं बात करेंगे.

वास्तव में यह मेडिकल कॉलेज विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी के क्षेत्र में आता है और उन्ही के इशारे पर यह मेडिकल कॉलेज खुला है. बहरहाल अब सीएम नीतीश कुमार के संज्ञान में मामला आ चुका और यदि मंत्री जी को कुर्सी प्यारी तो वह माफ़ी ज़रूर मांगेगे और अपनी आगे से ऐसी गलती भी नहीं करेंगे.

दूसरी सीएम नीतीश कुमार ने मेडिकल कॉलेज को लेकर विपक्ष को भी घेरा. उन्होंने कांग्रेस और राजद पर साल 2012 में सरकार में शामिल रहते हुए भी कॉलेज की नींव रखने के बाद उसे पूरा न कर पाने का आरोप लगाया. याद दिला दें कि समस्तीपुर के सरायरंजन में मेडिकल कॉलेज खोले जाने के विरोध में आरजेडी के विधायक जहां धरना पर बैठ गए थे वहीं पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अपना सिर मुंडवाया था जिसे सीएम नीतीश एक पब्लिसिटी स्टंट करार दिया था.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *