Fri. Nov 22nd, 2019

मुख्यमंत्री नीतीश मंत्रिमंडल : नीतीश मंत्रिमंडल में कितने मंत्री हुए शामिल?

मुख्यमंत्री नीतीश मंत्रिमंडल

मुख्यमंत्री नीतीश मंत्रिमंडल : रविवार को राज्य मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ। राज्यपाल लालजी टंडन ने सुबह साढ़े ग्यारह बजे राजभवन में नये मंत्रियों को शपथ दिलाई। मंत्रिमंडल विस्तार के अनुसार जदयू कोटे से आठ विधायक, विधान पार्षदों को मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया। फिलहाल 11 मंत्रिपद ख़ाली हैं। वे आठ नेता जिनको मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है, वे सभी जदयू के हैं जिनमें तीन विधान पार्षद और पांच विधायक हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश मंत्रिमंडल : कौन कौन बने हिस्सा मंत्रिमंडल का?

विधान पार्षदों में डॉ. अशोक चौधरी, संजय झा और नीरज कुमार, जबकि विधायकों में फुलवारीशरीफ विधायक श्याम रजक, आलमनगर के विधायक नरेन्द्र नारायण यादव, रुपौली की बीमा भारती, हथुआ के रामसेवक सिंह, लोकहा विधायक लक्षमेश्वर राय हिस्सा बने हैं। इनमें संजय झा, नीरज कुमार, लक्ष्मेश्वर राय और रामसेवक सिंह पहली बार मंत्री बने हैं, जबकि चार लोग डॉ. अशोक चौधरी, नरेन्द्र नारायण यादव, बीमा भारती और श्याम रजक नीतीश सरकार में मंत्री रह चुके हैं। इन आठ मंत्रियों में पांच लोग जदयू संगठन से भी जुड़े हैं। संजय झा व श्याम रजक जदयू के राष्ट्रीय महासचिव, रामसेवक सिंह कुशवाहा राष्ट्रीय सचिव, नीरज कुमार पार्टी के प्रवक्ता, जबकि लक्ष्मेश्वर राय अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष हैं। वहीं इनमें से शपथ लेने वाले मंत्रिपरिषद के नए सदस्यों में दो सवर्ण, दो दलित, दो अतिपिछड़ा और दो पिछड़ा वर्ग से तालुक रखते हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश मंत्रिमंडल : नीतीश कुमार और राज्यपाल की मुलाकात

नीतीश कुमार शनिवार कि दोपहर मंत्रिमंडल विस्तार के प्रस्ताव को लेकर राज्यपाल लालजी टंडन से राजभवन में मुलाकात करने पहुंचे थे। उनकी यह चर्चा आधे घंटे तक चली थी। फिर उनके लौटने के बाद राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां आरंभ हो गई थी जो देर शाम तक चली थी। रविवार को जदयू कोटे के ही मंत्रियों को शपथ दिलायी जाएगी, क्योंकि जो ग्यारह रिक्तियां हैं उनमें सर्वाधिक 9 रिक्ति जदयू कोटे की है, जबकि लोजपा और भाजपा कोटे से एक-एक पद ख़ाली है। लेकिन लोकसभा चुनाव में जीत हासिल होने के बाद तीन मंत्रियों राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह, दिनेश चन्द्र यादव और पशुपति कुमार पारस ने इस्तीफा दे दिया था, उनके जाने के बाद अब कुल मुख्यमंत्री समेत राज्य मंत्रिपरिषद में 25 सदस्य हैं।

कितने पद रिक्त हैं?

नियम अनुसार मंत्रिपरिषद में कुल सदस्य संख्या 243 का 15 फीसदी तक अर्थात सीएम समेत 36 सदस्य हो सकते हैं, लेकिन फिलहाल सीएम समेत 25 ही मंत्री हैं। अभी 11 मंत्री पद ख़ाली हैं।

यह खबरें भी ज़रूर पढ़ें :-

नीतीश कुमार से मुलाकात कर अमित क्यों पहुंचे पीएम के पास?

 

बिहार में सियासत तेज:नीतीश के करीबी बोले-BJP की पॉलिसी अलग

 

नीतीश ने घोली मिठास- प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को भेजी शाही लीची

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *