Mon. Jun 1st, 2020

छपरा की कुमाता ने अपने बच्चे के दोनों हूँठो पर लगाया गोंद ताकि वह रोये नहीं!

छपरा की कुमाता

समाचार रिपोर्टों के अनुसार, बिहार की -छपरा की कुमाता ने अपने बेटे के होठों को रोने से रोकने के लिए उसके दोनों होंठो को गोंद से चिपका दिया

बच्चे के पिता ने कहा कि वह बच्चे को असामान्य रूप से शांत खोजने के लिए काम से वापस आ गया। फिर उसने देखा कि वह मुंह में झाग डाले हुए है।

“कुछ काम के बाद, जब मैं घर वापस आया और उसे चुप पाया। बच्चे के पिता ने कहा,” उसके मुंह से झाग निकल रहा था।

“जब मैंने पत्नी शोभा से उसके बारे में पूछा, तो उसने मुझे बताया कि वह हर समय रो रही थी। इसलिए, उसने अपने होंठों पर गोंद लगा दिया, ताकि वह रोए नहीं।”
रिपोर्ट में कहा गया कि बच्चे को अस्पताल ले जाया गया और अब वह खतरे में नहीं है।

छपरा की कुमाता गिरफ्तार हो !

बच्चे सबसे प्यारे होते हैं, लेकिन एक बार जब उन्होंने रोना शुरू करने का फैसला किया, तो इसके बारे में आप बहुत कुछ नहीं कर सकते। लेकिन इस छपरा की कुमाता ने अपने बच्चे को रोने के लिए पर्याप्त था, इसलिए उसने चौंकाने वाला कुछ किया।

यह अपने बच्चे के रोने से निराश होना और संभावित रूप से उसे या उसके द्वारा जहर देने के लिए एक और बात है। शुक्र है, ज्यादा नुकसान नहीं हुआ और बच्चे के पूरी तरह ठीक होने की उम्मीद है वरना इस छपरा की कुमाता ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी थी !

सच में इस माँ की ममता मर ही गई थी एक सौतेली माँ भी ऐसा करने से पहले लाख-लाख बार सोचती या कहें तो वह ऐसा सोच भी नहीं सकती थी लेकिन यह छपरा की कुमाता टेहरी जिस पर सारा शहर लानत भेज रहा होगा

इस छपरा की कुमाता को तुरंत ही हत्या की कोशिश के आरोप में गिरफ्तार कर जेल में ठोस देना चाहिए उस बेजुबान बच्चे के बारे में सोच कर दिल पसीज जाता है कि वह यह तो यह भी नहीं कह पाया होगा – ” हे माँ ! मेरी गलती क्या है ? किस बात की सज़ा मुझे दे रही हो ?” क्या तुम मेरे से प्यार नहीं यदि नहीं तो मुझे मार ही डालो मुझे चुप करने से तुम्हारा कलेजा कैसा ठंडक पा सकता है ? रोने के अलावा मुझसे और हो भी क्या सकता था माँ ?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *