Fri. Oct 30th, 2020
बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-25-05-2019 भाग 2

बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-24-05-2019 : 17 वीं लोकसभा चुनाव में बदला बिहार राजनीति का भूगोल

बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-24-05-2019

बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-24-05-2019 : 17वीं लोकसभा चुनाव में बिहार का राजनीतिक परिणाम हैरान करा देने वाला है। बता दें कि पूरा विपक्ष मिल कर मात्र एक सीट जीत पाया है। वहीं जनता दल जिसने 17 में से 16 सीटें जीत ली। कटिहार सीट से जनता दल यूनाइटेड के टिकट पर डॉक्टर दुलाल चंद गोस्वामी क़रीब साठ हज़ार के अंतर से कांग्रेस पार्टी के तारिक अनवर को हरा दिया।

गोस्वामी अति पिछड़ी जाति से तालुक रखते हैं और इन्होंने इस लोकसभा चुनाव में काफ़ी अच्छी जीत हासिल कर ली। भागलपुर सीट भी भारतीय जनता पार्टी के खाते में आई है। जहानाबाद सीट के लिए पहले तो जीतने वाला उम्मीदवार या तो यादव जाति से होता था या भूमिहार जाति से, पर नीतीश कुमार ने इस चुनाव में अति पिछड़ी जाति के चंदेश्वर प्रसाद चन्द्रवंशी को मैदान में उतारकर, इस तरह राजनीतिक भूगोल बदला। सीतामढ़ी से वैश्य समाज से संबंध रखने वाले सुनील पिंटू ने ढाई लाख वोट से चुनाव जीता।

बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-24-05-2019 : चुनाव प्रचार के दौरान ही नीतीश ने पीएम को जीत की बधाई दे दिया था

बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-24-05-2019

बृहस्पतिवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोले कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा की जीत की बधाई पहले ही देदी थी। उनके अनुसार उन्होंने पहले ही पीएम को ये अवगत करा दिया था कि पिछले लोकसभा चुनाव से ज़्यादा भाजपा और एनडीए को सीटें मिलने वाली हैं। उनके अनुसार इस बार जनता ने काम के आधार पर मतदान किया है। नीतीश ने उम्मीद ज़ाहिर कि इस बार एनडीए का कॉमन मिनिमम प्रोग्राम ज़रूर बनेगा। उनका कहना है कि जनता के इस फ़ैसले के बाद अब मीडिया को भी विश्लेषण करना चाहिए कि उनके ऊपर कैसे-कैसे आरोप लगाए गए हैं।

बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-24-05-2019 : राजद की हार की वजह आपसी फूट !

बिहार एक्सप्रेस बुलेटिन-24-05-2019

बिहार लोकसभा चुनाव 2019 में राजद को एनडीए और उसके सहयोगी महागठबंधन के दलों ने नहीं, लालू परिवार में चल रही लड़ाई ने लोकसभा चुनाव की लड़ाई से बाहर कर दिया। तेजस्वी के साथ उनके परिवार के सदस्यों में कोई भी उनके साथ ना रहा सिवाए उनकी मां राबड़ी देवी और पिता लालू प्रसाद यादव के।

तेजस्वी अपने दो निजी सहयोगी मनी यादव और संजय यादव और दो राजनीतिक सहयोगी मनोज झा और आलोक मेहता के साथ लोकसभा चुनाव के तीन महीने पारिवारिक विवाद से जूझते रहे। उनकी बड़ी बहन मीसा भारती और बड़े भाई तेजप्रताप यादव शायद ही राजद नेता के तौर पर तेजस्वी को कभी स्वीकार कर पाए।

जैसे कि तेजप्रताप ने हर स्तर पर अपनी मनमानी चलाने की पूरी कोशिश की। यहां तक कि राजद के सीटों की घोषणा भी नहीं हुई थी, तेजप्रताप ने ससुर चंद्रिका राय का खुलकर विरोध करना शुरू कर दिया। वहीं मीसा भरती ने भी तेजप्रताप को मोहरा बनाकर उन्होंने तेजस्वी पर कई तीर छोड़े। जैसे जहानाबाद से सुरेंद्र यादव का मामला, राजद की अन्य 16 सीटों पर उम्मीदवार चयन का मसला, और खुद मीसा भारती के पाटलिपुत्र से उम्मीदवारी का मामला।

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम घोषित होने के साथ बिके 5 लाख के पटाखे !

लोकसभा चुनाव 2019

शहर से लेकर गांव तक लोगों ने लोकसभा चुनाव के नतीजे सुनते बी पटाखों से खुशियां मनानी शुरू कर दी। जीत हासिल करने के नाद भाजपा समर्थक और कार्यकर्ताओं ने जगह जगह पटाखे फोड़ कर खुशी मनाई। बाज़ार खरीदारी विश्लेषण के अनुसार सिर्फ गुरुवार काे शहर में एक दिन में तकरीबन 4 से 5 लाख रुपये के पटाखे छूटे। दोपहर से आरंभ हुआ ये सिलसिला शाम तक जारी रहा। वहीं, जीत के बाद समर्थकाें में प्रत्याशियाें एवं नेताअाें काे फूलाें का हार पहनाने की हाेड़ लगी थी।   गेंदा का माला बाजार में कम पड़ने पर 40 से 50 रुपये में बाजार समिति के अास-पास बिके। पूजा हवन का कार्यक्रम भी दाेपहर के पहले तक चलता रहा। 60 रुपए किलो के हिसाब से फूल बेचे गए।

भाजपा महिला मोर्चा द्वारा मनाया गया जीत का जश्न

भाजपा महिला मोर्चा

भाजपा महिला मोर्चा द्वारा एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएं दी गई साथ ही डुमरांव में लोकसभा चुनावों में भाजपा को मिली अभूतपूर्व जीत पर शहर में रैली निकालकर मतदाताओं को धन्यवाद दिया। इस रैली का नेतृत्व जिला महिला मोर्चा उपाध्यक्ष ओम ज्योति भगत ने किया। कार्यकर्ताओं ने लड्डू बांटकर व गुलाल लगाकर जीत का जश्न मनाया। इस अवसर पर महिला मोर्चा कि महामंत्री प्रमिला पाण्डेय, बंदना भगत, सीमा देवी, ध्रुव तारा, अर्चना चैबे, आकृति, रंजना देवी, चंदा देवी, माधुरी देवी सहित अन्य महिला कार्यकर्ता मौजूद थीं।

 

यह खबरें भी ज़रूर पढ़ें :-

 

भाजपा की जीत का जश्न- अलग तरह से पटना में मनाया गया जीत का जश्न

 

हार के बाद तेजस्वी ऐसे दिखे और ऐसा बयान दिया

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *