Mon. Dec 9th, 2019

भारतीय जलसेना की पहली महिला पायलट है बिहार की लाडली

भारतीय जलसेना की पहली महिला पायलट : इंडियन नेवी 4 नवंबर को अपना फाउंडेशन डे मनाने जा रही है। इस ख़ास दिन से 2 दिन पहले यानी 2 दिसंबर को भारतीय जलसेना को उसकी पहली वुमन पायलट मिलने जा रही है। यह पहली नेवल महिला पायलट कोई और नहीं बिहार प्रदेश की बेटी है।

लुईटीनेंट शिवांगी अपनी ट्रेनिंग पूरी होने के उपरान्त ऑपरेशन्स का चार्ज संभालेंगी। वह 2 दिसंबर को बतौर महिला पायलट इंडियन नेवी को जॉइन करेंगी। शिवांगी मूल रूप से बिहार के मुजफ्फरपुर की रहने वाली है। उन्होंने डीएवी पब्लिक स्कूल से अपनी स्कूली शिक्षा ग्रहण की है।

सिगरेट के पैसे मांगे तो अपराधियों ने दुकानदार को मारी गोली, हालत गंभीर

भारतीय जलसेना की पहली महिला है बेटियों के लिए मिसाल

शिवांगी भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट बनने वाली  स्नातक होंगी। उन्हें इंडियन नेवल अकादमी, एझिमाला में 27 एनओसी कोर्स के हिस्से के रूप में एसएससी (पायलट) के रूप में भारतीय नौसेना में शामिल किया गया और पिछले साल जून में वाइस एडमिरल एके चावला द्वारा औपचारिक रूप से कमीशन दिया गया।

ल.शिवांगी इंडियन नेवी की एविएशन शाखा में एयर ट्रैफिक कंट्रोल अधिकारियों के रूप में कार्यरत महिला अधिकारी और विमान में एआरइस पर्यवेक्षक यूनिट में शामिल हैं जो संचार और हथियारों के लिए जिम्मेदार हैं, स्रोत ने कहा। शिवांगी, जो यहां दक्षिणी नौसेना कमान में प्रशिक्षण ले रही थीं, को दो दिसंबर को डॉर्नियर हवाई जहाज उड़ाने के लिए प्राधिकरण मिलेगा।

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में ‘बैग घोटाला’, RTI से हुआ खुलासा

दो दिसंबर को पहली महिला पायलट के कॉकपिट में प्रवेश करने के लिए नौसेना ने फाउंडेशन डे से पहले का दिन चुना है। बिहार प्रदेश के हर नागरिक को अपनी बेटी पर फक्र है। समुद्र में भारत की जल सीमाओं की रक्षा सुनिश्चित करने में बिहार की बेटी का भी बड़ा रोल होने वाला है।

लुईटीनेंट शिवांगी उन हज़ारो नहीं बल्कि लाखों बेटियों की आवाज़ बनकर उभरी है जो असंभव को संभव कर देने का माद्दा रखती है। उम्मीद है कि ऐसे ही बिहार की अन्य बेटियां भी देश की सेवा वाली लिस्ट में शामिल होंगी और बिहार एवं देश का नाम रौशन करेंगी।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *