Tue. Nov 12th, 2019

बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने सड़क निर्माण में घोटाले का लगाया आरोप

बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल

बिहार भाजपा अध्यक्ष ने सीएम को लिखा पत्र : बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने बिहार सरकार पर ही अप्रत्यक्ष रूप से सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र से जुड़े एक परियोजना कार्य में घोटाले का सनसनसीख़ेज़ आरोप लगाया है। उन्होंने 95 लाख रुपये यानी करीब 1 करोड़ के गबन का आरोप लगाया है। उन्होंने इस बाबत सीएम नीतीश कुमार को पात्र लिखते हुए ठोस कार्यवाही की मांग की है।

उन्होंने आरोप लगाया कि इंजीनियर्स, ठेकेदारों और अफसरों की मिलीभगत से यह घोटाला काफी अरसे से चल रहा था. पश्चिम चंपारण के सांसद ने सीएम नीतीश कुमार को पत्र में लिखा-“मैं आपका ध्यान 14,000 ग्रामीण सड़कों के निर्माण में अनियमितताओं की रिपोर्ट पर लाना चाहता हूं। दिए गए मानकों के अनुसार निर्माण नहीं किया जा रहा है और इंजीनियरों की भागीदारी के बिना यह संभव नहीं हो सकता है।”

बिहार भाजपा अध्यक्ष ने सीएम को लिखा पत्र : उचित कार्यवाही की है ज़रुरत …..

पत्र में कहा गया है, “यदि उच्च-स्तरीय निरीक्षण हो … तो आप इंजीनियरों और ठेकेदारों की जटिलता पा सकते हैं।” पश्चिम चंपारण लोकसभा क्षेत्र से कथित भ्रष्टाचार का एक विशिष्ट उदाहरण देते हुए, जायसवाल ने मंझौलिया ब्लॉक के तहत 2017-18 पीएमजीएसवाई सड़क (एलओ -141) के लिए 14 दिसंबर 2018 को 29,33,455 रुपये का भुगतान बताया और 46,90,559 रुपये की लागत में इस वर्ष 15 और 18 फरवरी को 16,97,986 रुपये ठेकेदार को “इंजीनियर के साथ किसी भी निर्माण के बिना” अग्रिम भुगतान के तौर पर दिए जाने की बात बताई है.

सीट शेयरिंग के बाद लालू यादव से मिले तेजस्वी , जानिए उन्होंने क्या बोला

“इंजीनियर, राजनेताओं के साथ, भुगतानों को सही ठहराने की कोशिश कर रहे हैं और वे कुछ क्षेत्रों (जैसे) बाढ़-प्रभावित दिखा रहे हैं जो कभी भी बाढ़ से प्रभावित नहीं थे,” जायसवाल ने कहा। नीतीश ने गुरुवार को पश्चिम चंपारण का दौरा किया।

सूचना और जनसंपर्क मंत्री और जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने इस मुद्दे पर कहा कि, “हमने इस मामले का संज्ञान लिया हैऔर पाया है कि पूछताछ में ठेकेदार को पहले ही हटाया जा चुका था। सरकार इस मामले को और आगे तस्फील से देखेगी।

यह मामला अब काफी तूल न पकड़े इसलिए बेहतर होगा कि सीएम नीतीश कुमार बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल के पत्र को गंभीरता से लेते उस पर तत्काल कार्यवाही करें और अपने सुशासन तंत्र का एक और उम्दा उदाहरण पेश करें।

 

यह खबरें भी ज़रूर पढ़ें :-

सीट शेयरिंग के बाद लालू यादव से मिले तेजस्वी , जानिए उन्होंने क्या बोला

जीतनराम के जाने से तेजप्रताप को नही पड़ेगा फर्क, जानिए और उन्होंने क्या बोला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *