Sat. Nov 28th, 2020

वार्ड बॉय गिरफ्तार:मसाज के बहाने नाबालिग नेशनल खिलाड़ी से यौन दुर्व्यवहार

वार्ड बॉय गिरफ्तार:मसाज के बहाने नाबालिग नेशनल खिलाड़ी से यौन दुर्व्यवहार
वार्ड बॉय गिरफ्तार:बिहार के भोजपुर में एक बार फिर मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है।यहां निजी क्लिनिक में इलाज करवाने आई राष्ट्रीय स्तर की नाबालिग हैंडबॉल खिलाड़ी के साथ वार्ड बॉय के द्वारा यौन दुर्व्यवहार किया गया है।  पुलिस ने  पीड़िता के ब्यान पर तुरंत कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और पूरे मामले की छानबीन कर रही है।इंसानियत को हिला देनी वाली ये घटना है,जो खिलाड़ी अपने देश को किसी खेल में रिप्रेजेंट कर रही है उसके साथ ऐसा व्यवहार? आखिर कब तक ऐसे घटनाओं को सहता रहेगा देश?आखिर कब तक,ये सवाल लाजमी है पूछना क्योंकि आज उस लड़की के साथ हुआ है कल किसी और के साथ होगा,होगा नही बल्कि हो रहा है।

मसाज के बहाने छेड़खानी:-

ये घटना जिले के उदवंतनगर थाना क्षेत्र के जीरो माइल स्थित कौशल्या समय हॉस्पिटल की है। बताया जा रहा है कि जगदीशपुर थाना क्षेत्र की रहने वाली एक नबालिग नेशनल खिलाड़ी गुरुवार को अपने घर के छत से अचानक गिर कर बुरी तरह जख्मी हो गई थी। उसे इलाज के लिए परिजनों ने आरा जीरो माइल स्थित कौशल्या समय हॉस्पिटल में भर्ती कराया था।गुरुवार की देर रात जख्मी नबालिग खिलाड़ी जब अस्पताल में अपने बेड पर सोई हुई थी तभी वार्ड बॉय चिकित्सकीय परामर्श का बहाना बना कर लड़की के साथ यौन छेड़छाड़ करने लगा। जब पीड़िता ने इसका विरोध किया तो उसने मसाज के जरिये पीड़ा कम करने की बात कही। इसके साथ ही वह गंदी हरकतें करने लगा। पीड़ित लड़की ने जब विरोध किया तो शोरगुल होने लगा, लेकिन आरोपी वार्ड ब्वॉय वहां से भाग निकला।

वार्ड बॉय गिरफ्तार:कही अस्पताल प्रशासन की मिलीभगत तो नही:-

बच्ची ने अपने साथ हुई गंदे व्यवहार के बारे में जब परिजनों से बताई तो उनके होश उड़ गए।परिजनों ने इसकी शिकायत अस्पताल के कर्मियों से की, लेकिन अस्पताल कर्मियों ने उस आरोपी पर कोई कार्रवाई न करते हुए मामले को रफा-दफा करने की सलाह दे डाली।इससे नाराज परिजनों ने इसकी तत्काल सूचना उदवंतनगर थाना पुलिस को दी।थानाध्यक्ष संजय सिन्हा मौके पर पहुंचे और उन्होंने बताया कि वार्ड ब्वॉय को गिरफ्तार कर पूरे मामले की छानबीन की जा रही है।इस पूरी घटना में एक और चौंकाने वाली बात तब सामने आई जब हॉस्पिटल के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे की पड़ताल की गई। इसमें पाया गया कि पीड़िता का बेड सीसीटीवी कैमरे की जद से दूर है। इससे एक संदेह व्यक्त किया जा रहा है कि इस तरह के कुकर्म के पीछे अस्पताल प्रशासन की मिलीभगत तो नहीं है?लेकिन फिलहाल इस मामले को पुलिस देख रही है और वो जल्दी से जल्दी किसी हल तक पहुच जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *