Mon. Dec 9th, 2019

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में ‘बैग घोटाला’, RTI से हुआ खुलासा

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में 'बैग घोटाला', RTI से हुआ खुलासा
वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय : आरा के वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में सीनेट की होनेवाली बैठक और उसके नाम पर खरीदे जानेवाले बैग वितरण में घोटाले का मामला सामने आया है। घोटाले का खुलासा आरटीआई के माध्यम से हुआ है। यूनिवर्सिटी के पूर्व सीनेटर अजय तिवारी मुनमुन द्वारा मांगे गए सूचना के अधिकार से हुए इस खुलासे के बाद से यूनिवर्सिटी प्रशासन में हड़कंप है। हालांकि यूनिवर्सिटी प्रशासन किसी भी तरह के बैग घोटाले से इंकार कर रहा है।

अजय तिवारी के मुताबिक :

दरअसल पूर्व सीनेटर अजय तिवारी ने आरटीआई से पिछले वर्षों में हुए सीनेट की बैठक में सीनेट सदस्यों के बीच होनेवाले बैग खरीदारी की संख्या और वितरण से संबंधित जानकारी मांगी थी। इसके बाद साल 2014-15 में 100 बैग की खरीद होने और 61 बैग वितरित होने, साल 15-16 में 52 और साल 2016-17 में 56 बैग के वितरित किये जाने की जानकारी मिली थी। अजय तिवारी के मुताबिक इस मामले में आरटीआई से जानकारी मांगी गई थी जिसकी सुनवाई पिछले दिनों राज्य सूचना आयोग में हुई थी। इसके बाद बैग की खरीदारी और वितरण में घोटाले की बात सामने आई।

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय : बैग का हिसाब नही :

अजय तिवारी ने इसकी शिकायत कुलपति से करते हुए पिछले वर्षों में बैग की खरीदारी में वितीय अनियमितता की शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में लिखा है कि हर वर्ष 100 बैग खरीदे जाते हैं जबकि इसका ठीक आधा सीनेट सदस्यों के बीच वितरण होता है बाकी का कोई हिसाब नही रहता। आरटीआई से हुए इस खुलासे के बाद भी यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार कर्नल श्यामानंद झा किसी भी तरह के बैग घोटाले से इंकार कर रहे हैं। बता दें की वर्तमान में भी वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी में 80 सीनेट सदस्य है जबकि पिछले साल 60 मेंबर थे।
यह भी पढ़ें :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *