Thu. Jul 9th, 2020

पांच लाख रुपए हड़पने के लिए हादसे को बताया लूट और हत्या , पुलिस ने खोली पोल

पांच लाख रुपए हड़पने के लिए हादसे को बताया लूट और हत्या , पुलिस ने खोली पोल
पुलिस ने खोली पोल : बिहार की बेगूसराय पुलिस ने लूट और हत्या के झूठे मामले का खुलासा कर लिया है। पुलिस की तफ्तीश के बाद जो बातें सामने आई वह लोगों को बिल्कुल चौंकाने वाली है। दरअसल शहर के लोहिया नगर थाना क्षेत्र के बाघा बाईपास के समीप सीएसपी संचालक शशि कुमार की सड़क हादसे में मौत हुई लेकिन इस घटना के बाद मृतक के अपने ही चचेरे भाई प्रभात कुमार ने सीएसपी संचालक शशि कुमार के पास मौजूद पांच लाख रुपये छिपाकर इस पूरी घटना को लूट और हत्या में तब्दील करने का प्रयास किया, लेकिन कुछ ही घंटों में पुलिस ने इस पूरे मामले का पटाक्षेप कर दिया।

पुलिस ने खोली पोल : घटनास्थल पर ही मौत

दरअसल शनिवार की शाम मटिहानी थाना क्षेत्र के मनीअप्पा निवासी सीएसपी संचालक शशि कुमार एसबीआई की बाघा शाखा से पांच लाख रुपये निकालकर अपने केंद्र पर जा रहे थे। इसी क्रम में उनकी बाइक एक दूसरी बाइक से टकरा गई जिससे वह सड़क के दाएं तरफ गिर गए और पीछे से आ रही एक बोलेरो की चपेट में आ गए जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। नगर थानाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार झा ने बताया की इस घटना के बाद शशि कुमार के साथ मौजूद उनके एक रिश्तेदार को शशि कुमार के चचेरे भाई ने समझा-बुझाकर गलत बयान बाजी करवाई।

प्रशासन धन्यवाद का पात्र :

शशि कुमार के साथ मौजूद अजय कुमार ने पुलिस को बताया कि बाइक सवार अपराधियों ने रुपये लूट लिए और इस लूटपाट के दौरान शशि कुमार की बाइक अनियंत्रित हो गई और वह गिर पड़े जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। पुलिस ने शशि कुमार के शव का पोस्टमार्टम भी करवाया। पोस्टमार्टम के बाद लोगों ने शव के साथ ट्रैफिक चौक के समीप एनएच 31 को जाम कर दिया एवं जमकर बवाल काटा। पुलिस की तत्परता से इस पूरे मामले का उद्भेदन हो गया। फिलहाल पुलिस ने मृतक शशि कुमार के चचेरे भाई आरोपी प्रभात कुमार को हिरासत में ले लिया है एवं पूछताछ कर रही है। पुलिस द्वारा पूरी रकम भी बरामद कर ली गई है।पूरे मामले का खुलासा होने के बाद मृतक के परिजनों ने जहां मदद की गुहार लगाई है वहीं स्थानीय लोग पुलिस की वाहवाही करने से नहीं चूक रहे। अधिवक्ता अमरेंद्र कुमार अमर ने बताया कि अपने आप में यह नए-नए तरीके से पुलिस को गुमराह करने वाला मामला था लेकिन पुलिस ने इस पूरे मामले को तत्परता से निपटा लिया इसके लिए स्थानीय प्रशासन धन्यवाद का पात्र है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *