Sat. Oct 31st, 2020

अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान बबीता फोगाट सियासी अखाड़े में बीजेपी का परचम लहराने को तैयार

पहलवान बबीता फोगाट

अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान बबीता फोगाट एक बार फिर सरकारी नौकरी छोड़ सियासी गलियारे में एंट्री मारने को तैयार हैं। पहले भी वह सियासी कारणों के वजह से नौकरी छोड़ती नज़र आई हैं। इस बार भाजपा नेत्री हरियाणा सरकार के खेल उपनिदेशक की नौकरी छोड़ बिहार के चुनावी अखाड़े में पार्टी के तरफ से विपक्षियों को शिकस्त देने के लिए तैयार हैं। कहा जा रहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव में वे बीजेपी की स्टार प्रचारक के रूप में सामने आएंगी।

पिछले वर्ष अगस्त माह में बीजेपी में शामिल होते ही हरियाणा पुलिस से इस्तीफ़ा देने वाली अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान बबीता फोगाट ने बुधवार को खेल विभाग की उपनिदेशक पद से त्यागपत्र दिया। हालांकि विभाग के प्रधान सचिव को भेजे गए इस्तीफ़े में इन्होंने निजी कारणों का उल्लेख किया है लेकिन बताया जा रहा है कि वह अब राष्ट्रीय स्तर पर राजनीति के मैदान में लड़ती नज़र आएंगी।

पार्टी को नज़र आती इनमें इन नेत्रियों की झलक

इस संबंध में इन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक बबीता में भाजपा को अपनी तेजतर्रार नेत्रियों उमा भारती और साध्वी ऋतंभरा की छवि नज़र आ रही है। पार्टी की रणनीति के अनुसार बिहार विधानसभा चुनाव और हरियाणा की बरोदा सीट के उपचुनाव में दंगल गर्ल को स्टार प्रचारक के रूप में सामने लाने की तैयारी है।

अपको बता दें कि कंगना राणावत से लेकर अन्य कई बड़े मुद्दों पर निडर विचार व्यक्त करने वाले ट्वीट किए हैं। बबीता का आक्रामक तेवर पार्टी को इनके मजबूत इरादों का बताता है। इस कारण पार्टी इन्हें अपनी राजनीतिक रणनीति में महत्वपर्ण भूमिका निभाने की ज़िम्मेदारी सौंपने की तैयारी में है। राष्ट्रीय राजनीति में सक्रिय होने की इच्छुक बबीता के अनगिनत फैंस व फॉलोअर्स हैं।

खेल के क्षेत्र में इनकी उपलब्धियां

अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान बबीता फोगाट राष्ट्रमंडल खेलों में एक स्वर्ण समेत तीन अन्य पदक प्राप्त कर चुकी हैं। वर्ष 2018 में इन्होंने गोल्ड कोस्ट में खेले गए 53 किलो महिला कुश्ती प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता था। इससे पहले वर्ष 2014 में ग्लास्गो में आयोजित खेलों में स्वर्ण पदक जीता था वहीं साल 2010 में दिल्ली में राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक अपने नाम किया था। इनके पिता और कोच महावीर फोगाट द्रोणाचार्य अवार्ड से सम्मानित किए जा चुके हैं।

 

अन्य खबरें पढ़ें सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *