Wed. Jan 19th, 2022

डेंगू का आयुर्वेदिक इलाज- इसके उपयोग से बिमारी को भगा सकते हैं दूर

डेंगू की बिमारी इतनी बढ़ गयी है कि दवा दर्पण अब काम ही नहीं कर रही है। इसलिए अब डेंगू का आयुर्वेदिक इलाज निकाला गया है। डेंगू एक विशेष प्रकार के मच्छर के काटने से होने वाला ज्वर है। यह मरीज के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को घटा देता है। इस कारण इसके होने वाले ज्वर पर कोई भी दवा जल्दी असर नहीं करती। मरीज को काफी कमजोरी होने लगती है। इसका असर दिमाग पर भी होता है। ऐसे में आयुर्वेदिक इलाज ज्यादा तेजी से काम करता है। यह बात शहर के मिठनपुरा, पानी टंकी चौक स्थित जनक आयुर्वेद अनुसंधान केंद्र के वैद्य डॉ. ललन तिवारी ने बताई है।

जानिए डेंगू का आयुर्वेदिक इलाज क्या है

वैद्य डॉ. तिवारी ने डेंगू के इलाज के लिए घरेलु नुस्का बताया है। उन्होंने कहा कि पपीता के पत्ते के काढ़ा इस बिमारी में बहुत फायदेमंद होता है। इसका सेवन सुबह-शाम खाने से पहले करने से मरीज को काफी हद तक आराम मिलता है। इसे बनाने के लिए चार कप पानी में पपीते का एक पत्ता मसल दें। फिर उस बर्तन का मुंह साफ कपड़े से बांध दें और पानी को तबतक उबालें जबतक कि वह एक कप के बराबर न हो जाए। इसे छानकर सेवन करें। इसके सेवन से मरीज को आराम मिलेगा।

 

यह भी पढ़ें- बैंक में लूटपाट, यूको बैंक की शाखा से उड़ाए 32 लाख रूपए

तुलसी के काढ़े से भी होगा आराम

इस बिमारी का एक इलाज तुलसी का काढ़ा भी है। इसे तैयार करने के लिए चार कप पानी में तुलसी के 21 पत्ते, गोल मिर्च के दो दाने, सोंठ की हल्की मात्रा, पांच ग्राम मुलेठी और 10 ग्राम गुड़ को मिलाकर तब तक उबालें जब तक कि वह एक कप के बराबर न हो जाए। इस तरह तैयार काढ़े को सुबह-शाम भोजन के बाद लें। इसका सेवन भी काफी फायदेमंद है।

बकरी का दूध भी है इलाज

वैध ने बताया कि बकरी के दूध से भी मरीज को फायदा होता है। मरीज को सुबह-शाम एक-एक ग्लास बकरी के दूध का सेवन करना चाहिए। ज्वर अधिक रहने पर मरीज के माथे पर बकरी के दूध में भींगी कपड़े की पट्टी डालने से भी फायदा होता है। इस रोग में चावल खाने, दिन में सोने और शुरुआती तीन दिन स्नान से परहेज की भी सलाह भी उन्होंने दी है। कई परहेज के बाद ही आप स्वस्थ्य हो सकते हैं और साथ ही बताये गए इलाज को भी अपनाएं।

बिहार की राजनीति, मनोरंजन, जीवनशैली, खेल इत्यादि से जुड़ी ख़बरें अब सिर्फ बिहार एक्सप्रेस पर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार एक्सप्रेस ताज़ा ख़बरें