Sun. Nov 1st, 2020

कन्हैया कुमार पर हमला, पुलिस के सामने उनके काफिले पर हुई जूतों की बरसात

कन्हैया कुमार पर हमला

बिहार में कन्हैया कुमार पर हमला लगातार हो रहा है। कन्हैया कुमार जिले के राजेंद्र स्टेडियम में जनसभा को सम्बोधित करने के बाद भागलपुर जा रहे थे तभी उनके काफिले पर जुते-चप्पल फेंके जाने लगे। कन्हैया कुमार के साथ सिर्फ इतना ही नहीं हुआ, जनता ने उनके लिए ‘कन्हैया गो बैक’ के नारे भी लगाएं। जानाकरी के अनुसार जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और वामदल के नेता कन्हैया कुमार के काफिले पर बिहार में फिर से हमला हुआ है। ये कोई पहली बार नहीं था। इससे पहले सुपौल में भी कन्हैया के काफिले पर हमला किया गया था। उस हमले में तो कन्हैया कुमार के घायल होने की खबर भी निकल के आयी थी।

 

Image result for कन्हैया कुमार पर हमला

कटिहार जाते वक़्त हुआ कन्हैया कुमार पर हमला

कटिहार से भागलपुर जाने के दौरान कन्हैया कुमार के काफिले पर शहीद चौक के पास लोगों ने जमकर विरोध किया। पहले तो पोस्टर दिखाया उसके बाद जमकर ‘कन्हैया कुमार जो बैक’ के नारे लगाने लगे। चौक पर पुलिस की घेराबंदी के बाद भी भीड़ शांत नहीं रही। भीड़ में शामिल लोगों ने कन्हैया के काफिले पर जुते  और चप्पलों की बरसात कर दी। हालांकि कन्हैया के काफिले के साथ चल रहे प्रशासन की टीम ने मामले में तत्परता दिखाते हुए गाड़ियों के काफिले को आगे बढ़ा दिया।

 

Image result for कन्हैया कुमार पर हमला

 

यह भी पढ़ें- एपीओ के पदों पर भर्ती करेगा बीपीएससी, लॉ ग्रेजुएट्स के लिए बड़ी खुश खबरी

एनआरसी और सीएए के खिलाफ कन्हैया बिहार के कई जिलों में जनसभा सम्बोधित कर रहे हैं। इसी काम के लिए कन्हैया आज कटिहार के राजेंद्र स्टेडियम पहुंचे थे जहां उन्होंने जनसभा की और सीएए और एनआरसी को लेकर केंद्र सरकार की खिलाफत की। इस बात से भड़की जनता ने उनपर हमला बोल दिया। इससे पहले भी कन्हैया कुमार पर इसी वजह से हमला हो चूका है, उसके बाद भी ये अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। सुपौल और शिवान में भी कन्हैया हमले का शिकार हो चुके हैं। एक तरफ जहाँ बिहार सरकार एनआरसी और सीएए की जनता को सही परिभाषा बता रही है, वहीँ दूसरी तरफ सत्ता में आने के लिए के लिए विपक्षी जनता को इसके खिलाफ भड़का रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *