Sat. Oct 31st, 2020

अंत्योदय एक्सप्रेस मधुबनी हादसा : ट्रेन के दो डिब्बे हुए डिरेल, कोई नुकसान नहीं

अंत्योदय एक्सप्रेस मधुबनी हादसा

अंत्योदय एक्सप्रेस मधुबनी हादसा : बिहार में मधुबनी जिले के पास शुक्रवार सुबह अंत्योदय एक्सप्रेस के दो डिब्बे पटरी से उतर गए। खबरों के मुताबिक, शुक्रवार से तड़के जयनगर रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों की स्थापना के दौरान जयनगर से उधना जाने वाली अंत्योदय एक्सप्रेस के दो डिब्बे पटरी से उतर गए।

पटरी से उतरे दोनों डिब्बों को बाद में क्रेन की मदद से पटरी पर लाया गया, जिसे समस्तीपुर जिले के लिए बुलाया गया था। मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) समस्तीपुर ने घटना की जांच के आदेश दिए है।

ओडिशा के कटक में नागरुंडी रेलवे स्टेशन के पास मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) एक्सप्रेस के पटरी से उतर जाने से कम से कम 40 यात्रियों के घायल होने के एक दिन बाद यह घटना हुई है जिससे रेलवे की सुरक्षा पर सवाल खड़े होते है जबकि नए रेल मंत्री पीयूष गोयल के रहते कितने ही बदलाव और सुधार सुरक्षा व्यवस्था को लेकर किये जा रहे है।

आरा में रेलवे ट्रैक के किनारे मिली युवती की अर्धनग्न लाश, रेप के बाद……

अंत्योदय एक्सप्रेस मधुबनी हादसा : बड़ा हादसा होने से टला

हालांकि, घटना के कारण किसी भी तरह की जान माल की क्षति या रेलवे की कोई क्षति नहीं हुई। अंत्योदय सुपर-फास्ट एक्सप्रेस (12879) के लगभग आठ डिब्बे संभवत: घने कोहरे के कारण सलगांव और नेरगुंडी के बीच एक मालगाड़ी के गार्ड वैन से टकराने के बाद पटरी से उतर गए। जबकि पांच कोच पटरी से उतर गए, तीन अन्य कोच आंशिक रूप से पटरियों से विस्थापित हो गए।

सिरफिरे शख्स ने अपने परिवार के 5 लोगों को मार डाला , खुद लगा दी छत से छलांग

रेलवे ने इस हादसे के बाद दो हेल्पलाइन नंबर हैं- 0671 1072 और 0674 1072 जारी किए हैं। घटना के कारण कई ट्रेनों के रूट डायवर्ट किए गए जिससे रेलवे यातायात और ट्रेनों की आवाजाही पर काफी असर पड़ा है। अच्छी बात रही कि किसी की जान को हानि नहीं पहुँची और कोई भयानक हादसा नहीं हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *