Mon. Jan 27th, 2020

आरोपी ब्रजेश ठाकुर को सज़ा मिल सकती है क्योंकि शेल्टर होम केस में फैसला आना संभव

आरोपी ब्रजेश ठाकुर

आरोपी ब्रजेश ठाकुर को सजा : बिहार पीपुल्स पार्टी (बीपीपी) के पूर्व विधायक बृजेश ठाकुर द्वारा चलाए जा रहे बिहार के मुजफ्फरपुर में आश्रय गृह में कई लड़कियों के कथित यौन और शारीरिक हमले के मामले में दिल्ली की एक अदालत द्वारा  गुरुवार को अपना फैसला सुनाया जा सकता है।

दिल्ली की साकेत अदालत मुख्य आरोपी ठाकुर और 21 अन्य लोगों के खिलाफ यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (POCSO) अधिनियम के प्रावधानों के तहत दर्ज मामले में अपना फैसला सुनाएगी और अधिकतम सजा के रूप में आजीवन कारावास की सजा सुनाएगी।

अदालत ने 30 सितंबर को मामले में अंतिम दलीलें सुनने के लिए निष्कर्ष निकाला था और अपना आदेश सुरक्षित रखा था। यह संभावना है कि सभी अभियुक्तों को 10 साल से लेकर आजीवन कारावास तक की सजा सुनाई जाएगी जिसमें राज्य के समाज कल्याण विभाग से जुड़े कई अधिकारी भी आरोपी हैं।

सुशील मोदी जीओएम अध्यक्ष बने, निभाएंगे यह ज़िम्मेदारी

आरोपी ब्रजेश ठाकुर को सजा मिलेगी और होगी न्याय की जीत !

अदालत ने 20 मार्च 2018 को नाबालिगों के साथ बलात्कार और यौन उत्पीड़न के लिए आपराधिक साजिश रचने के आरोप में बृजेश ठाकुर सहित आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किए थे। उनके आश्रय गृह के कर्मचारियों और सामाजिक कल्याण अधिकारियों के बिहार विभाग पर आपराधिक साजिश, कर्तव्य की उपेक्षा और लड़कियों पर हमले की रिपोर्ट करने में विफलता के आरोप लगाए गए थे।

आरोपों में उनके अधिकार के तहत बच्चे के साथ क्रूरता का अपराध भी शामिल है जो किशोर न्याय अधिनियम के तहत दंडनीय है। अदालत में पेश हुए सभी आरोपियों ने निर्दोषता का दावा किया और मुकदमे का दावा किया।

टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (TISS) द्वारा पहली बार आश्रय गृह में नाबालिग लड़कियों के कथित यौन शोषण पर प्रकाश डालते हुए बिहार सरकार को एक रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद मामला सामने आने के बाद सीबीआई को मामले की जांच सौंपी गई थी।

नागरिकता संशोधन बिल पर पप्पू यादव ने उठाए सवाल , कही ये बात

7 फरवरी को मामला बिहार के मुजफ्फरपुर की एक स्थानीय अदालत से सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर दिल्ली के साकेत जिला अदालत परिसर में POCSO अदालत में स्थानांतरित किया गया था।  अब उम्मीद जताई जानी चाहिए कि इन्साफ अवश्य होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार एक्सप्रेस ताज़ा ख़बरें