Mon. Dec 9th, 2019

गणितज्ञ आनंद पर लगाया आरोप, गुवाहाटी हाईकोर्ट में छात्रों ने दायर की याचिका ली वापस

गणितज्ञ आनंद पर लगा अरूप

पटना के सुपर 30 कोचिंग संस्थान के संचालक गणितज्ञ आनंद पर लगाया अरूप कि उन्होंने रिजल्ट में धोखेधड़ी की है। गरीब मेधा को तराशकर आइआईटी में प्रवेश दिलाने के लिए आनंद कोचिंग में पढ़ाते हैं जो की इन दिनों अदालत में चक्कर काट रहे हैं। इस संबंध में गुवाहाटी हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान 19 नवंबर को उनपर पुरे 50 हजार रूपए का जुरमाना लगाया है। इसके बाद आनंद को गुरुवार 28 नवंबर को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया था। याचिकाकर्ता छात्रों ने आनंद पर सुपर 30 के नाम पर ठगी का आरोप लगाया था।

छात्रों द्वारा गणितज्ञ आनंद पर लगाया अरूप..

इस पहले सितम्बर 2018 में आइआइटी गुवाहाटी के छात्र अविनाश बारो, मनजीत डोले, विकाश दास, और धनीराम ताऊ ने गुवाहाटी हाईकोर्ट में पीआइएल दाखिल कर आनंद कुमार पर ठगी का आरोप लगाया। छात्रों ने अरूप लगाया था कि आनंद कुमार झूठा दवा करते हैं, जिनसे प्रभावित होकर देशभर से कई छात्र उनके पास अपने सपने को पूरा करने के लिए आते हैं। आनंद उन्‍हें अपने कोचिंग संस्थान ‘रामानुजम स्कूल ऑफ मैथमेटिक्स’ में दाखिला देते हैं, जहां उनसे 30-30 हजार रुपये की फीस ली जाती है। छात्रों ने आरोप लगाया कि 2018 की आइआइटी प्रवेश परीक्षा में आनंद कुमार ने ‘सुपर 30’ के 30 में से 26 छात्रों की सफलता का दावा किया था, लेकिन उन्होंने उन छात्रों के नाम नहीं बातये थे। याचिकाकर्ता छात्रों का आरोप है कि आनंद कुमार ने सुपर-30 के रिजल्ट में गलत किया।

 

Image result for सुपर ३० आनंद"

 

छात्रों का कहना था कि आनंद साल 2008 से ‘सुपर 30’ का संचालन तक नहीं कर रहे, लेकिन हर साल आइआइटी प्रवेश परीक्षा के रिजल्‍ट के बाद इसके सफल छात्रों की लिस्‍ट लेकर सामने आ जाते हैं। दरअसल, ये ‘रामानुजम स्कूल ऑफ मैथमेटिक्स’ के छात्र होते हैं। जबकि, दावा सुपर 30 के सफल छात्रों का किया जाता है। इनके धोखेधड़ी अब और नहीं चलनी चाहिए। इसपर याचिका पर सुनवाई हुई तो गुवाहाटी हाईकोर्ट ने आनंद को 19 नवंबर को कोर्ट में उपस्थित होने का आदेश दिया था। लेकिन आनंद वहां उपस्थित नहीं हुए। उनके वकील ने कोर्ट से समय माँगा, जिससे नाराज होकर कोर्ट ने उनपर 50 हजार रूपए का जुर्माना लगाया और साथ ही 28 नवंबर को पेश होने का आदेश दिया।

 

यह भी पढ़ें- पवन सिंह की फिल्म ‘पवन पुत्र’ का फर्स्ट लुक आउट, जानिए कब रिलीज़ होगी फिल्म

आज होनी थी कोर्ट में पेशी

इस मामले को लेकर छात्रों की याचिका पर गुवाहाटी होईकोर्ट में न्यायमूर्ति अजय लांबा और एएमबी बरुआ की पीठ सुनवाई कर रही थी। कोर्ट ने आनंद कुमार को अगली सुनवाई के लिए गुरुवार 28 नवंबर को उपस्थित होने का आदेश दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *