Wed. Nov 13th, 2019

राह देख रहा है परिवार और बिहार , घर पर मनाईये छठ का त्यौहार

राह देख रहा है परिवार और बिहार , घर पर मनाईये छठ का त्यौहार
मनाईये छठ का त्यौहार : “छठ और मैं”
“छठ सिर्फ 4 दिनों का त्यौहार ही नही बल्कि पूरे एक साल का इन्तेजार होता है।”
छठ ऐसा शब्द है  जो दिवाली के बाद से ही दिमाग और मन मे चलने लगता है। छठ शब्द जिसको सिर्फ सुनने मात्र से ही न जाने एक दम से सब याद आने लगता है, अपने गांव और मोहल्ले भर के लड़के, जे दिवाली के अगले दिन से ही छठ पूजा के तैयारी में लग जाते थे ।
अपने पापा से चुरा  के 5 रुपया 10 रुपया जमा करके लड़के सब घाट सजाने का सामान झालर सब लगा के घाट बना देते थे।
उत्साह त मानिये की सातवे आसमान पर रहता था । बाज़ार से छठ का सारा सामान किनना पूरे दिन भूखे प्यासे बाजार में समान जोड़ना एक अलग ही मजा था।
छठ के दिन भोर से ही सब लड़के बिल्कुल ऐसे तैनात रहते थे, जैसे सीमा पर हमारे वीर जवान पूरा घर से लेके पोखरे तक जगमग रोशनी वाला लाइट डीजे पर सब जगह शारदा सिन्हा जी के छठ गीत मानिये मन जैसे तृप्त हो जाता था ।अब तो शारदा सिन्हा के अलावा खेसारी लाल,पवन सिंह के गाने खूब चलने लगे है।लेकिन  एक बात तो है छठ पूजा शारदा सिन्हा जी के गीत के बिना अधूरा सा लगता है ।
दीवाली से लेके छठ तक पूरे बिहार में एक अलग ही जोश उत्साह देखने को मिलता है ।
मनाईये छठ का त्यौहार : घर न जाने का दुःख :
मैं एक ऐसा अभागा हूँ जो काम के चक्कर में कई वर्षों से घर नही गया हर बार कोई न कोई समस्या या अड़चन मेरे और मेरे गाँव जाने के बीच आ ही जाता था । पूरे 5 साल हो चुके है हमको बिहार, माँ और छठ पूजा के दूर रहते ।
बस अब और नही हमने फैसला कर लिया इस साल और सिर्फ इसी साल क्यों हर साल हम छठ पूजा में अपने माँ के पास अपने गाँव मे छठ पूजा मनाएंगे और आपस मे खुशियाँ बाटेंगे ।
आप सभी देश विदेश रह रहे सभी भाई लोग से अनुरोध है कि छठ में आप सब समय निकाल के घर जरूर पहुँचे काम धंधा और पैसा कमाना तो साल भर लगा रहता है ।
आइये इस बार छठ पूजा को सब लोग साथ मिलके अपने परिवार के साथ मिल के मनाए ।
हम तो जा रहे है छपरा अपने घर और आप सब भी सब काम खत्म करके जल्दी घर पहुँचिये ।
और हां प्रसाद का ठेकुआ पीड़िकीया लाके अपने बॉस और दोस्त लोगो को जरूर खिला दीजिएगा ताकि आगे से बॉस दिक्कत न करे ।
आइये घर चलते है।
राह देख रहा है परिवार और बिहार
घर पर मनाईये छठ का त्यौहार।

यह खबरें भी पढ़ें:-

राबड़ी देवी के घर इस बार छठ पूजा नहीं, परिवार की ऐसी हालत है वजह

 

नीतीश कुमार की बात पर भाजपा की “हाँ” वाली मुहर, विपक्ष को इसलिए है रूचि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *