Thu. Jun 4th, 2020

कन्हैया कुमार पर फिर से हमला, हुई अण्डों की बरसात और कहा ‘कौआ कुमार’

कन्हैया कुमार पर फिर से हमला

बिहार में जवाहर लाल नेहरू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और कम्युनिस्ट पार्टी के नेता कन्हैया कुमार पर फिर से हमला हुआ है। ये सीएए-एनआरसी का विरोध कर रहे हैं और इसके लिए कई जगह जनसभा भी सम्बोधित की है। कन्हैया ने जहाँ-जहाँ सीएए और एनआरसी के खिलाफ आवाज़ उठायी वहां इनपर बेखौफ हमले हुए हैं। इन दिनों ये नागरिकता संशोधन कानून, राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर व राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर के खिलाफ राज्यव्यापी यात्रा पर हैं। इस दौरान वो नवादा भी पहुंचे जहाँ उन्हें ‘कौआ कुमार’ बताते हुए पर्चे साटे गए। इसके बाद भी वो नवादा पहुंचे और जनसभा भी की। कन्हैया के इस रवैये से तो लग रहा है इतने हमलों के बाद अब आदत हो गयी है।

कन्हैया कुमार ने किया सीएए-एनआरसी का विरोध, फिर हुआ हमला

इसके पहले भी कन्हैया कुमार पर हमले हो चुके हैं। जमुई से नवादा आते वक़्त सोमवार को ही उनके काफिले पर हमला कर अण्डों की बरसात की गयी। जगह-जगह हो रहे हमलों के दौरान अभी हाल में ही कन्हैया पर जूते-चप्पलों की भी बरसात की गयी। सोमवार को नवादा के आइटीआइ मैदान में इनकी जनसभा हुई। वहां आते ही उनके कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। इन सबसे पहले कन्हैया कुमार को इशारे करते हुए नवादा समाहरणालय के आसपास प्रजातंत्र चौक और जेपी चौक पर कई पर्चे साटे मिले। इन साटे पर्चों पर कन्हैया कुमार को कौआ कुमार कहकर सम्बोधित किया गया था और उनको वापिस जाने को भी कहा गया। ये पर्चे किसने लगाए इस बात का पता नहीं है।

 

Image result for कन्हैया पर हमला

 

यह भी पढ़ें- बिहार पुलिस कांस्टेबल परीक्षा की तिथि तय, सीएसबीसी ने जारी किया नोटिफिकेशन

कन्हैया कुमार सीएए-एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ बिहार में जगह-जगह विरोध कर रहे हैं। यात्रा पर निकले कन्हैया कुमार पर बिहार में जगह-जगह हमला हो रहा है। सोमवार को भी जमुई में कन्हैया के कहफिले पैट हमला हुआ। इस बीच कन्हैया पर अंडे और मोबिल भी फेंके गए।नवादा में ‘कौआ कुमार’ के पर्चे भी साटे गए।इस पहले कटिहार में जनसभा कर के वापस लौटते वक़्त भी कन्हैया पर जूते-चप्पल फेंके गए थे। इस हमला में तो कन्हैया बस बाल-बाल बचे थे। इसके भी पहले इनपर बिहार के ही मधेपुर और सुपौल में हमला हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *